हरियाणा में आज अस्पताल बंद कर हड़ताल पर रहेंगे प्राइवेट डॉक्टर,निजी अस्पताल बंद होने से स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित।

हरियाणा में आज अस्पताल बंद कर हड़ताल पर रहेंगे प्राइवेट डॉक्टर,निजी अस्पताल बंद होने से स्वास्थ्य सेवाएं  प्रभावित।

हमारे देश में डॉक्टर्स को भगवान कहा जाता है लेकिन जब यहीं भगवान रुठ कर सड़को पर उतर जाए तो उन बेचारे मरीजों का क्या जो अपने इलाज के लिए कोसो दूर से आते है। कुछ ऐसी तस्वीर आज प्रदेशभर में देखने को मिल रही है। जहां आज प्राइवेट डॉक्टरअस्पताल बंद कर हड़ताल पर रहेंगे, सभी डॉक्टर क्लिनिकल एस्टेब्लिशमेंट एक्ट के विरोध में हड़ताल कर रहे है। लेकिन इन सबके बीच सबसे बड़ी बात ये है कि इस हड़ताल से स्वास्थ्य सेवाएं एक बार फिर से प्रभावित हो सकती हैं, क्योकिं पहले ही 10 दिनों से एनएचएम कर्मचारी हड़ताल पर थे और एनएचएम कर्मचारी के बाद अब प्राइवेट अस्पताल भी धरने पर बैठ गए है।

क्या है क्लीनिकल इस्टैब्लिशमेंट एक्ट?

·         हर मरीज का इलेकट्रॉनिक हेल्थ रिकॉर्ड और मेडिकल हेल्थ रिकॉर्ड अस्पताल प्रशासन के पास सुरक्षित होना चाहिए।

·         ये एक्ट मेटरनिटी होम्स, डिस्पेंसरी क्लिनिक्स, नर्सिंग होम्स, एलोपैथी, होम्योपैथी और आयुर्वेदिक पर लागू होता है।

·         हर अस्पताल, क्लीनिक्स का खुद का रजिस्ट्रेशन भी जरूरी है।

·         रजिस्ट्रेशन से सुनिश्चित किया जा सके कि वो लोगों को न्यूनतम सुविधाएं और सेवाएं दे रहे है।

·         एक्ट के तहत किसी रोगी के इमरजेंसी में पहुंचने पर उसको तुरंत स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करवाएं जाएं।

·         प्रत्येक अस्पताल अपनी सेवाओं की कीमत केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित सीमाओं के भीतर ही ले सकेंगे।

·         एक्ट से जुड़े प्रावधानों का उल्लंघन करने पर अस्पताल का रजिस्ट्रेशन रद्द से लेकर, उन पर जुर्माने का प्रावधान है।  

Leave a comment