‘मॉस्को पर हुए हमले का दर्द समझता है भारत’, पुतिन से मुलाकात में बोले PM मोदी

‘मॉस्को पर हुए हमले का दर्द समझता है भारत’, पुतिन से मुलाकात में बोले PM मोदी

Narendra Modi and Vladimir Putin Bilateral Talks: भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच द्विपक्षीय वार्ता शुरू हो गई है। बातचीत के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि रूस में हुए आतंकी हमले का दर्द भारत महसूस कर सकता है। आने वाले दिनों में भारत और रूस के रिश्ते और मजबूत होंगे। पीएम मोदी ने कहा कि रूस की मदद से भारत को सस्ता तेल मिल रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि, "महामहिम और मेरे मित्र, मैं इस गर्मजोशी भरे स्वागत और सम्मान के लिए आपका आभार व्यक्त करता हूं। भारत में चुनावों में अभूतपूर्व जीत के बाद आपने हमें जो शुभकामनाएं दीं, उसके लिए भी मैं आपका आभार व्यक्त करता हूं। मार्च में, आप भी शानदार प्रदर्शन रहा। एक बार फिर मैं आपको चुनाव में जीत के लिए शुभकामनाएं देता हूं।''

'आतंकवाद की कड़ी निंदा करता हूं'

भारतीय प्रधान मंत्री ने कहा, "भारत पिछले 40-50 वर्षों से आतंकवाद का सामना कर रहा है। आतंकवाद कितना भयानक है, हम पिछले 40 वर्षों से इसका सामना कर रहे हैं। इसलिए, जब मास्को में आतंकवादी घटनाएं हुईं, जब मास्को में आतंकवादी घटनाएं हुईं दागिस्तान। मैं कल्पना कर सकता हूं कि उनका दर्द कितना गहरा होगा। मैं आतंकवाद के सभी रूपों की कड़ी निंदा करता हूं।"

गहरे हैं भारत और रूस के संबंध

पीएम मोदी ने कहा, ''पिछले 2.5 दशकों से मेरे संबंध रूस के साथ भी रहे हैं और आपके साथ भी रहे हैं। करीब 10 साल में हम 17 बार मिल चुके हैं। पिछले 25 साल में हमारी करीब 22 द्विपक्षीय मुलाकातें हुई हैं। ये एक उदाहरण है हमारे संबंधों की गहराई को दर्शाता है।”

भारत का मिला सहयोग

पीएम मोदी ने मॉस्को में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ बैठक में कहा कि जब दुनिया ईंधन की चुनौती का सामना कर रही थी, तब आपके सहयोग से हमें आम आदमी की पेट्रोल और डीजल की जरूरतों को पूरा करने में मदद मिली। इतना ही नहीं, दुनिया को यह स्वीकार करना चाहिए कि ईंधन पर भारत-रूस समझौते ने अंतरराष्ट्रीय बाजार में स्थिरता लाने में बड़ी भूमिका निभाई है।

पुतिन ने रात्रिभोज का किया आयोजन

प्रधानमंत्री मोदी राष्ट्रपति पुतिन के साथ 22वीं भारत-रूस वार्षिक शिखर बैठक के लिए सोमवार को रूस की दो दिवसीय यात्रा पर पहुंचे। पुतिन ने सोमवार रात मॉस्को के बाहरी इलाके में अपने आधिकारिक आवास 'नोवो-ओगारियोवो' में मोदी के लिए एक निजी रात्रिभोज का आयोजन किया। मॉस्को पहुंचने के तुरंत बाद, मोदी ने कहा था कि वह भविष्य के क्षेत्रों में द्विपक्षीय साझेदारी को गहरा करने के लिए उत्सुक हैं और मजबूत भारत-रूस संबंधों से "हमारे लोगों को बहुत फायदा होगा।"

Leave a comment