Gyanvapi Masjid: ज्ञानवापी मस्जिद पर वाराणसी कोर्ट ने किया बड़ा फैसला, नहीं बदले जाएंगे कोर्ट कमिश्नर

Gyanvapi Masjid: ज्ञानवापी मस्जिद पर वाराणसी कोर्ट ने किया बड़ा फैसला, नहीं बदले जाएंगे कोर्ट कमिश्नर

वाराणसीवाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद मामले को लेकर कोर्ट का फैसला आ गया। स्थानीय कोर्ट ने ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे के लिए 17 मई तक का समय दिया है। वाराणसी कोर्ट ने 17 मई तक रिपोर्ट मांगी है। साथ ही कोर्ट की तरफ से कहा गया है कि कोर्ट कमिश्नर नहीं हटाए जाएंगे। कोर्ट कमिश्नर के साथ दो वकील भी होंगे। अदालत ने साथ ही पूरे मस्जिद परिसर का सर्वे करने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा कि जबतक मस्जिद के कमिशन की कार्रवाई पूरी नहीं होती है तबतक सर्वे जारी रहेगा। कोर्ट ने इस कार्रवाई को सख्ती के साथ पूरी करने का आदेश दिया है। 

इससे पहले बुधवार को मामले पर कोर्ट ने फैसला सुरक्षित कर लिया था। प्रतिवादी अंजुमन इंतजामियां मसाजिद कमेटी की तरफ से एडवोकेट कमिश्नर अजय कुमार मिश्रा को हटाए जाने की मांग को लेकर 3 दिन तक बहस चली। हिंदू पक्षकारों के वकील सुधीर त्रिपाठी ने बताया कि मुस्लिम पक्ष लगातार कमीशन की कार्यवाही को बाधित कर रहा है। कोर्ट में भी मुस्लिम पक्षकारों के वकील लगातार ऐसी बातें कह रहे थे जैसे लग रहा है कि वह कथावाचन कर रहे हैं। उनके पास न तो कोई सबूत है और न ही कोई तथ्य।

इससे पहले5 महिलाओं ने याचिका दायर कर श्रृंगार गौरी की रोज पूजा का अधिकार मांगा था. कोर्ट ने इस मामले में सुनवाई के बादज्ञानवापी के सर्वे का आदेश दिया था। साथ ही एडवोकेट कमिश्नर नियुक्त किया था। लेकिन सर्वे के दौरान ज्ञानवापी मस्जिद में हंगामा हो गया था. इसके बाद सर्वे नहीं हो पाया था। वहीं मथुरा श्री कृष्ण जन्मभूमि विवाद मामले में गुरुवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई हुई. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मथुरा की अदालत कोनिर्देश दिया है कि अधिकतम 4 महीने में सभी अर्जियों का निपटारा किया जाए। साथ ही हाईकोर्ट ने सुन्नी वक्फ बोर्ड व अन्य पक्षकारों केसुनवाई में शामिल ना होने पर एकपक्षीय आदेश जारी करने का निर्देश भी दिया है। 

Leave a comment