Kangana Ranaut के पलटवार पर Annu Kapoor ने खुद को बताया सीनियर सिटीजन,मांगी माफी

Kangana Ranaut के पलटवार पर Annu Kapoor ने खुद को बताया सीनियर सिटीजन,मांगी माफी

Kangana Ranaut and Annu Kapoor Controversy :जाने माने एक्टर अन्नू कपूर इन दिनों अपनी फिल्म ‘हमारे बारह’ को लेकर सुर्खियों में बने हुए हैं। दूसरी तरफ हाल ही में राजनीति में कदम रखने वाली बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत अपने साथ हुए थप्पड़ को लेकर चर्चाओं में हैं। हाल ही में जब अन्नू कपूर से कंगना के थप्पड़ कांड को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, ‘ये कंगना कौन हैं? कोई बड़ी हीरोइन हैं? सुंदर हैं?

जिस पर कंगना ने करारा जवाब दिया था और कहा था कि ‘क्या आप अन्नू कपूर जी से सहमत हैं कि हम एक सफल महिला से नफरत करते हैं।’अब इस पूरे मामले पर अन्नू कपूर से लंबी चौड़ी सफाई दी है और खुद को सीनियर सीटिजन बताया है। उन्होंने इंस्टाग्राम स्टोरी पर एक पोस्ट किया जिसमें कंगना को प्रिय बहन कहते हुए संबोधित किया। उन्होंने लिखा कि मीडिया के पूछे प्रश्नों के उत्तर में कुछ अर्थ का अनर्थ निकल रहे हैं, तो सोचा कुछ तथ्य उजागर कर दूं।

मैं आपको नहीं जानता

उन्होंने लिखा, ‘मेरे लिए प्रत्येक स्त्री आदरणीय और श्रद्धेय है। इसलिए मैं कभी भी किसी भी नारी का निरादर नहीं कर सकता। मैं फिल्में, टीवी, ओटीटी, न्यूज़ चैनल या समाचार पत्र नहीं पड़ता। इसलिए आप चाहे तो मुझे मूर्ख बुला सकती हैं। मूर्ख होना अपराध नहीं है।’ अन्नू कपूर ने लिखा, ‘किसी भी देश की व्यवस्था या कानून तथा कायदे को ना जानकर गलती कर देना अपराध और दंड के अंतर्गत आ सकता है। परंतु इसके अलावा किसी व्यक्ति विशेष या स्थान या वस्तु को न जानना त्रुटि या अपराध नहीं होता। इसीलिए आदरणीय बहन मैं आपको नहीं जानता अतः इस बात को आप स्त्री गरिमा निराधार की कोटि में नहीं सम्मिलित करेंगी।’

 

मैं अत्यंत छोटा और मामूली सा व्यक्ति

एक्टर ने अपने स्टोरी में आगे लिखा, ‘मीडिया जब प्रश्न पूछे तो समझ लीजिए उनको मसाला चाहिए, करंट अफेयर्स का। जो उन्हें मेरी बेबाकी से मिल गया। मेरा राजनीति और धर्म से कोई नाता रिश्ता नहीं है और क्योंकि धर्म से कोई लेना-देना नहीं है इसलिए अधर्म से ही कोई रिश्ता नहीं।’उन्होंने लिखा,‘मैं अत्यंत छोटा और मामूली सा व्यक्ति हूं। मुझमें कोई विशेषता नहीं है। मैंने कोई त्रुटि पूर्ण या अपमानजनक शब्द ना तो सोचा और ना ही कहें।

मुझे माफ कर दें

 उन्होंने अंग्रेजी में लिखा- मैं उसे चीज के लिए जिम्मेदार हूं जो मैंने कहा लेकिन मैं उसे चीज के लिए बिल्कुल भी जिम्मेदार नहीं हूं जो लोगों ने समझा। परंतु फिर भी यदि मेरी किसी बात से आप खफा हो गई हो तो बराएं मेहरबानी मुझे माफ कर दें। आप अपने ध्येय में सफलता प्राप्त करें। ऐसी ही मंगल कामना है। हम सबके हृदय में अपने अधिकारों से ज्यादा अपने कर्तव्यों के प्रति जागरूकता जागे, ऐसी ही शुभकामनाएं हैं।’

खुद को कहा सीनियर सिटीजन

फिर अंत में उन्होंने चार पंक्तियां के साथ अपनी बातों को खत्म किया। उन्होंने लिखा,बरसते रहो सावन सरीखे खेत में,महकते रहो चंदन तरीके देश में। लोग तो मिट्टी से सोना ही निकले, और तुम मोती उगाओं रेट में। और खुद को सीनियर सिटीजन बताया।’

Leave a comment