हरियाणा में धरने पर रोडवेज कर्मचारी।

हरियाणा में धरने पर रोडवेज कर्मचारी।

हरियाणा सरकार द्वारा 500 निजी बसों को किराये पर लेकर रोडवेज बेड़े में शामिल करने के फैसले का विरोध शुरु हो गया है।

ना केवल विरोध बल्कि रोडवेज कर्मचारियों ने सरकार को चेतावनी दी है कि वो एक भी निजी बस को रोडवेज बेड़े में शामिल नहीं होने देंगे, चाहे इसके लिए उन्हें कोई भी कुर्बानी देनी पड़े। साथ ही रोङवेज कर्मचारियों ने आज से आंदोलन शुरु कर दिय है। आपकों बता दें कि रोडवेज बसों को हरियाणा में सबसे सस्ता और सुरक्षित सफर माना जाता है। हर रोज लाखों लोग रोडवेज बसों से सफर करते हैं। बावजूद इसके समय-समय पर रोडवेज बेड में बसों की कमी और निजी बसों को शामिल करने के सरकार के फैसले को लेकर रोङवेज कर्मचारी विरोध स्वरूप धरने, प्रदर्शन के साथ चक्का जाम भी करते हैं। इस बार भी कुछ ऐसा ही हो रहा है। आज सरकार ने 500 निजी बसों को किराये पर लेकर रोडवेज बेडे में शामिल करने का फैसला लेने की बात कही थी। ये फैसला सिरे चढ़ने से पहले ही रोडवेज कर्मचारियों के विरोध के चलते खटाई में पड़ता नजर आ रहा है।

 

Leave a comment