मायावती का बंगला मोह।

मायावती का बंगला मोह।

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्यमंत्रियों के सरकारी आवास खाली कराने के आदेश के बाद यूपी में घमासान मचा हुआ है।बसपा सुप्रीमो मायावती के बंगले के मामले में अब एक नया मोड़ आ गया है।

बीएसपी नेता सतीश चंद्र मिश्र ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की और जानकारी दी कि 13 माल एवेन्यू तो मायावती का आवास है ही नहीं।योगी से मिलकर लौटे सतीश चंद्र मिश्र ने कहा कि उनकी सीएम योगी के साथ यादगार मुलाकात हुई। वह उनसे 13 ए, माल एवेन्यू कांशीराम यादगार स्थल को लेकर मिले थे। उन्होंने यह बंगला वापस न लेने के लिए योगी को प्रत्यावेदन सौंपा है। सतीश चंद्र मिश्र ने कहा कि 13 ए माल एवेन्यू कांशीराम की याद में बनाया गया था। उसके बाद यह बंगला मायावती को अलॉट हुआ था।

13 जनवरी 2011 को कैबिनेट में निर्णय लिया गया था कि पूरा बंगला कांशीराम यादगार स्थल के नाम से रहेगा और मायावती उसके छोटे से भाग में रहेंगी। एक तरफ सुप्रीम कोर्ट का आदेश दूसरी तरफ मायावती की दांव दोनों ही योगी सरकार के लिए परेशानी का सबब बन गए हैं। अगर सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करते हुए योगी सरकार 13 A  माल एवेन्यू खाली करवाकर किसी दूसरे संस्थान या विभाग को एलॉट करती है तो मामला दलितों से जोड़ कर मायावती सियासी हमला बोल देंगी और अगर आवास खाली नहीं कराया गया तो सुप्रीम कोर्ट का डंडा चल जाएगा। बहरहाल अब देखना ये होगा की माया के इस मायावी जाल को योगी कैसे तोड़ पाएंगे।

 

Leave a comment