स्वच्छ भारत मिशन की खुली पोल।

स्वच्छ भारत मिशन की खुली पोल।

स्वच्छ भारत मिशन को अधिकारी पलीता लगाने से बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसा ही एक ताजा मामला यूपी के हरदोई से सामने आया है। सुरसा की ग्राम सभा खजुरहरा में ग्राम पंचायत अधिकारी और प्रधान पर स्वच्छ भारत मिशन के तहत लाखों का गोलमाल करने का आरोप लगा है।

केंद्र सरकार की ओर से स्वच्छ भारत मिशन के तहत 10 शौचालयों का निर्माण स्कूलों में होना था और पैसा भी ग्राम सभा के खाते में आ गया। वहीं आरोप लगा है कि 12 लाख 80 हजार के लगभग रुपए ग्राम पंचायत अधिकारी और प्रधान ने मिलकर गबन कर लिए और शौचालय के नाम पर महज खानापूर्ति करते हुए पुराने टूटे पड़े शौचालय में ही डेंट पेंट करा दी और लाखों का गबन कर लिया। यही नहीं जनता ने प्रधान और ग्राम पंचायत अधिकारी पर आरोप लगाया है कि काम तो होता है लेकिन सब फर्जी होता है। वहीं इन पर आरोप ये भी है कि गांव में बनने वाली पुलिया और RCCकी सड़क को लेकर भी भ्रष्टाचार हुआ है। आपको बता दें किबीजेपी के सदर सांसद अंशुल वर्मा ने खजुरहरा गांव को ही गोद लिया है। ग्रामीणों का कहना है कि इसको लेकर जिलाधिकारी और सीएम योगी को भी शिकायत दी जा चुकी है। लेकिन सरकार और प्रशासनिक अधिकारियों की आंखें अभी तक नहीं खुली हैं।

 

 

Leave a comment