आर्थिक तंगी से जूझ रहे मां-बेटे ने दे दी जान।

आर्थिक तंगी से जूझ रहे मां-बेटे ने दे दी जान।

कानपुर के सजेती थाना क्षेत्र के मकरंदपुर गांव में आर्थिक तंगी से जूझ रहे मां-बेटे ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। पेड़ पर दो शव लटके होने की सूचना पर गांव में हड़कंप मच गया,जिसके बाद ग्रामीणों ने जानकारी पुलिस को दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों को पेड़ से उतरवाया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।जानकारी के मुताबिक सजेती थाना क्षेत्र के अंतर्गत मकरंदपुर गांव में रहने वाली जनक दुलारी किसानी करती है और वह आर्थिक तंगी से जूझ रही थी। बेटे सरवन जो सूरत से हाल ही में आया हुआ था और उसका उसकी मां से झगड़ा हुआ था। ज्यादा कहा-सुनी होने के बाद मां अपने घर से निकल गई और काफी दूर जाकर एक पेड़ पर फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। उसके कुछ ही देर बाद बेटा सरवन मां को ढूढ़ने पहुंचा, जहां मां को लटकता हुआ देख उसने भी फांसी लगा ली। परिजनों का कहना है कि उनके घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी, जिसके बाद से घर में खाने-खाने को परिवार मोहताज हो गया था। इसी चलते ही आत्‍महत्‍या की बात सामने आ रही है।मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है और मामले की जांच में जुट गयी है।

Leave a comment