यह बात सहन नहीं कर सके बाबा रामदेव पतंजलि ने की मोदी सरकार की आलोचना

यह बात सहन नहीं कर सके बाबा रामदेव पतंजलि ने की मोदी सरकार की आलोचना

यूं तो बाबा रामदेव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार की तारीफ को कोई मौका नहीं छोड़ा लेकिन जीएसटी के मसले पर माजरा बदल गया है। दरअसल जीएसटी में आयुर्वेदिक उत्पादों पर भारी टैक्स का प्रावधान किया गया है। इसके बाद पतंजलि की ओर से कहा गया है कि यदि लोगों को अच्छा स्वास्थ्य देने वाली चीजें महंगी होंगी तो अच्छे दिन कैसे आएंगे।मालूम हो अब तक आयुर्वेदिक दवाओं और अन्य उत्पादों पर वैट समेत 7 फीसदी टैक्स था लेकिन जीएसटी में 12 फीसदी टैक्स रखा गया है।

सरकार के इस फैसले के बाद पतंजलि आयुर्वेद एवं पतंजलि योगपीठ के प्रवक्ता एसके तिजरावाला ने कहा आयुर्वेदिक चीजों पर ज्यादा जीएसटी लगाने का फैसला आश्चर्यजनक है। इन सबके बिना किसी के अच्छे दिन कैसे आ सकते हैं।वहीं उद्योग संगठन एसोसिएशन ऑफ मैन्युफेक्चर्स ऑफ आयुर्वेदिक मेडिसिन्स एएमएएम ने भी कहा कि एक तरफ मोदी सरकार आयुर्वेद को बढ़ावा दे रही है वहीं जीएसटी के तहत अधिक कर से ये दवाएं महंगी होंगी तथा आम लोगों की पहुंच से बाहर हो जाएंगी।एएमएएम के महासचिव प्रदीप मुलतानी के अनुसार जब प्रधानमंत्री आयुष को बढ़ावा देने के लिए कदम उठा रहे हैं ऐसे में उक्त कदम दुर्भाग्यपूर्ण है।

 

Leave a comment